सच की तलाश में कोई अन्य कितना मददगार हो सकता है?

श्रीमन् किस भी सत्ता / प्रभुता का अनुसरण ना करें. किसी भी सत्ता के अनुयायी ना बने. प्रभुता या सत्ता ही शैतानियत है. सत्ता तबाह कर देती है, विकृति लाती…

Read more »