मौन, ध्यान है।

जब आप अपना सिर क्षितिज को देखते हुए, एक से दूजी ओर घुमाते हैं तो आप की आंखें एक वृहत आकाश देखती हैं, जिसमें धरती और आसमान की सारी चीजें…

Read more »